In einem Zimmer steht ein rotes Kinderfahrrad, Kinder-Gummistiefel und Schuhe eines Erwachsenen. © Goethe-Institut

गर्भावस्था

बच्चों के साथ जीवन गर्भावस्था से ही शुरू हो जाता है। यदि आपके पास गर्भावस्था से संबंधित सवाल हैं, तो आप गर्भावस्था परामर्श केन्द्र में जा सकते हैं।

गर्भावस्था के दौरान आपको एक स्त्रीरोग विशेषज्ञ के पास नियमित रूप से जाना चाहिए। वे आपके सवालों के जवाब देते हैं और आपके बच्चे के स्वास्थ्य को नियंत्रित रखते हैं। एक दाई के भी समान कर्तव्य हैं। वह गर्भावस्था के दौरान और आपके बच्चे के जन्म के बाद भी आपको सलाह देती है और आपकी सहायता करती है। दाई जन्म के समय भी मौजूद होती है। आपका डॉक्टर आपको स्त्रीरोग विशेषज्ञ और/या दाई ढूंढने में मदद कर सकता है। कई महिलाएं जन्म-संबंधी तैयारी पाठ्यक्रम में भी भाग लेती हैं। यहाँ आपको कई जन्म-संबंधी सुझाव मिलेंगे। आप अन्य गर्भवती महिलाओं के साथ संपर्क में भी आते हैं।

Auf einem Tisch liegt ein Ultraschallbild eines Ungeborenen. © Goethe-Institut

मातृत्व अवकाश, अभिभावक अवकाश और अभिभावक भत्ता

यदि आपके पास एक स्थायी नौकरी है, तो आप जन्म देने से पहले मातृत्व अवकाश ले सकते हैं, जिसका अर्थ है कि आपको काम करने की जरूरत नहीं है। ज्यादातर व्यवसायों में यह जन्म से 6 सप्ताह पहले होता है। मातृत्व अवकाश कम से कम 14 सप्ताह तक रहता है। इस समय सीमा को बढ़ाया जा सकता है। आपके नियोक्ता को इस दौरान आपको नौकरी से बर्खास्त करने की अनुमति नहीं है। मातृत्व अवकाश के बाद, आप अभिभावक अवकाश ले सकते हैं: जब तक आपका बच्चा 3 साल का नहीं हो जाता, आप घर पर रह सकते हैं। तीन साल बाद आप अपने काम पर वापस लौट सकते हैं।

अभिभावक अवकाश के पहले बारह महीनों में आपको अभिभावक भत्ता मिल जाता है। यदि आपका साथी भी अभिभावक अवकाश लेता है, तो यह चौदह महीने है। अभिभावक भत्ते की राशि आपके शुद्ध वेतन पर निर्भर करती है। अभिभावक भत्ते के लिए आवेदन किया जाना चाहिए। आप इसे तब भी प्राप्त करते हैं, अगर आपके पास कोई नौकरी नहीं है। अभिभावक भत्ते के अलावा आप बाल भत्ते के लिए भी आवेदन कर सकते हैं। आपको कम से कम अपने बच्चे के अठारहवें जन्मदिन तक बाल भत्ता मिलता है।
जिसकी आय कम है उसे विशेष परिस्थितियों में संतान भत्ता के तहत अतितिक्त शुल्क
मिलता है I

एहतियाती स्वास्थ्य देखभाल

बच्चे को नियमित रूप से बाल-चिकित्सक के पास ले जाना चाहिए। प्रत्येक परीक्षा, चिकित्सक द्वारा एक विशेष लॉग-बुक में दर्ज की जाती है। यह एहतियाती जाँच होती है। भले ही आपका बच्चा बीमार न हो, तो भी आपको ये सभी जाँच करवानी चाहिए। बाल-चिकित्सक आपके बच्चे का टीकाकरण भी करता है।

बच्चे की देखभाल

यदि आप जल्दी ही फिर से काम करना चाहते हैं, तो आपको अपने बच्चे की देखभाल के लिए किसी की आवश्यकता होगी। ऐसी स्थिति में कई विकल्प हैं। 3 साल से कम उम्र के बच्चे क्रेच में जा सकते हैं या एक नैनी/बेबी-सिटर के साथ घर पर रह सकते हैं। 3 साल से अधिक उम्र के बच्चे बालवाड़ी (किंडरगार्टन) या एक डेकेयर सेंटर (किटा) जा सकते हैं (देखें: “प्रारंभिक देखभाल”)। 6 या 7 साल की उम्र के बच्चों को स्कूल जाना चाहिए। यहाँ अनिवार्य स्कूल उपस्थिति लागू होती है (देखें: “स्कूल और शिक्षा”)। यदि आप काम करते हैं, तो आपका बच्चा एक सपूर्ण-दिवसीय स्कूल पर जा सकता है या स्कूल के बाद शिशुसदन में जा सकता है। वहाँ आपका बच्चा शाम 4:00 या 5:00 बजे तक रह सकता है। ज्यादातर समय, आपका बच्चा वहाँ दोपहर का भोजन भी खा सकता है।  

Ein Kind sitzt mit Badeanzug und Schwimmflügeln zusammen mit dem Vater an einem See. © Goethe-Institut

मनोरंजन

ख़ाली समय में आप अपने बच्चे के साथ बहुत कुछ कर सकते हैं:
 
छोटे बच्चों के लिए बाहर खुले में खेल के मैदान हैं। बड़े बच्चे, उदाहरण के तौर पर, किसी स्पोर्ट्स क्लब में जा सकते हैं। गर्मियों में तैराकी के लिए हर जगह बाहर स्विमिंग पूल होते हैं तथा सर्दियों में बिल्डिंग के अंदर। स्कूल की छुट्टियों के दौरान, शहरों में बच्चों के लिए ऐसे विशेष कार्यक्रम होते हैं जिनकी लागत बहुत अधिक नहीं होती। आपके शहर के युवा कल्याण कार्यालय और टाउन हॉल में इस विषय में जानकारी उपलब्ध होती है। कई क्लब बच्चों के ख़ाली समय के लिए मनोरंजनात्मक गतिविधियाँ भी प्रदान करते हैं (देखें:"ख़ाली समय")।
 
कई जर्मन बच्चे अपने जन्मदिन पर घर में पार्टी मनाते हैं। पार्टी में वे अन्य बच्चों को आमंत्रित करते हैं। जब आपके बच्चों को निमंत्रण मिलता है और वे पार्टी में जाते हैं, तो वे बहुत जल्दी दोस्त बनाते हैं। कभी-कभी बच्चे दूसरे बच्चों को अपने घरों में सोने के लिए भी आमंत्रित करते हैं। यह भी आपके बच्चे की दोस्त बनाने में मदद कर सकता है।

Ein Kinderspringseil liegt auf dem Boden. © Goethe-Institut

 परिवार में झगड़ा, संकट और हिंसा

भिन्न-भिन्न मान्यताएं, ईर्ष्या या अप्रत्याशित परिस्थितियाँ परिवार में लड़ाई या संकट का कारण बन सकती हैं I दम्पति परामर्श केंद्र हल ढूँढने में आपकी सहायता कर सकते हैं I इसके अलावा परिवार में दिश-मुक्त किये जाने के बारे में जानकारी हासिल कर सकते हैं I
जिसका परिवार में अपमान हो रहा हो,उसे मजबूर किया जा रहा हो, उसे धमकाया जा रहा हो,या उस पर शारीरिक या सेक्स सम्बंधित हिंसा की जा रही हो, उसे सहायता की ज़रुरत है I परिवारों के लिए फ़ेडरल ऑफिस के पेज पर सूचना व इमरजेंसी नंबर उपलब्ध है I महिलाओं के लिए विशेष सहायता उपलब्ध है I




 

बार-बार पूछे जाने वाले प्रश्न

क्या आपके मन में कुछ और प्रश्न हैं ? संपर्क फॉर्म के ज़रिये हमें लिखिए I हम आपके प्रश्नों को गोपनीय रूप से युवा प्रवासी सेवा के परामर्श दाताओं तक पहुँचादेंगे I

संपर्क फॉर्म तक